Type Here to Get Search Results !

दिल्ली एनसीआर के इन बड़े स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी भरा आया ईमेल

0

 मौके पर पुलिस और बम स्क्वॉड, डॉग स्क्वॉड और फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची।



दिल्ली-एनसीआर के इन नामी स्कूलों को आया धमकी भरा ईमेल, यहां देखें लिस्ट
राजधानी दिल्ली और नोएडा समेत एनसीआर के 100 से ज्यादा स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी भरा ईमेल आया है। इन स्कूलों मेंडीपीएस, मदर मैरी और एमिटी समेत कई नामी स्कूल शामिल है। बताया जा रहा है कि ईमेल सुबह के वक्त आया। स्कूलों ने तुरंत इसकी सुचना पुलिस को दी। मौके पर पुलिस और बम स्क्वॉड, डॉग स्क्वॉड और फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची। 
पुलिस ने तुंरत सभी स्कूलों के कैंपस को खाली कराकर सर्च अभियान चलाया। वहीं, स्कूल मैनेजमेंट ने संदेश भेजकर अभिभावकों को इसकी जानकारी दी और बच्चों को घर ले जाने का अनुरोध किया। जिसके बाद अभिभवकों में खलबली मच गई। वे बच्चों को घर ले जाने के लिए स्कूल पहुंचने लगे। 
इन नामी स्कूलों को दी बम से उड़ाने की धमकी 
दिल्ली के द्वारका में स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस), पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार स्थित मदर मैरी स्कूल, संस्कृति स्कूल और पुष्प विहार स्थित एमिटी स्कूल को भी ईमेल के जरिए धमकी दी गई है। इसके अलावा छावला के सेंट थॉमस, सरिता विहार के जीडी गोयनका, बाबा हरिदास नगर के एवरग्रीन पब्लिक स्कूल और द्वारका के सचदेवा ग्लोबल स्कूल की भी धमकी मिली है। दिल्ली के अलावा नोएडा के दिल्ली पब्लिक स्कूल को भी धमकी भरा ईमेल मिला है। इन स्कलों के अलावा भी दिल्ली एनसीआर में कई स्कूलों को धमकी दी गई है।
एक ही ईमेल से स्कूलों को धमकी भेजी गई
पुलिस के मुताबिक, दिल्ली के कई स्कूलों में बम की धमकी मिली है। शुरुआती जांच में ऐसा लग रहा है कि कल से अब तक कई जगहों पर ईमेल भेजा गया है। और यह एक ही पैटर्न पर लग रहा है। इस ईमेल में डेटलाइन नहीं है। एक ही ईमेल को कई जगह भेजा गया है।
डीसीपी साउथ वेस्ट रोहित मीना ने कहा, 'हमें जानकारी मिली कि सुबह करीब 4:15 बजे कई स्कूलों को एक ही ईमेल भेजा गया था। हमने कार्रवाई की और स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया। छात्रों को घर वापस भेजा गया। सभी स्कूलों में जांच चल रही है और हमारी तकनीकी शाखा ईमेल की जांच कर रही है, ऐसा लगता है कि यह एक सामूहिक ईमेल है। मैं छात्रों और अभिभावकों से शांत रहने का अनुरोध करना चाहता हूं घबराने की जरूरत नहीं है। हम प्रत्येक स्कूल की जांच करा रहे हैं और स्कूल प्रशासन के संपर्क में हैं।





एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad