Type Here to Get Search Results !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शिकायती पत्र भेज के मज़ार ख़ुर्शीद सहाब कब्रिस्तान की भूमि का बंटाधार होने से बचाने की मांग

0

 भू-माफियाओं के साथ मिल कर जल्द से जल्द वक्फ की सम्पति को ठिकाने लगाना चाहते हैं मुतव्वलि अशरफ खान

पूर्व मे भी कर चुके हैं 29 साल 11 माह की फ़र्जी लीज डीड, मामला वक्फ बोर्ड मे विचाराधीन

देवबंद। आज 24 फ़रवरी 2024 को देवबंद मे हो रहे वक्फ की सम्पति के बंटाधार को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को नसीर खां ने शिकायती पत्र भेज कर कारवाई की मांग की है।
शिकायती पत्र मे बताया गया है कि देवबंद रणखण्डी फाटक के करीब मज़ार ख़ुर्शीद सहाब वक्फ नंबर 285 खसरा नंबर 318 व 319 पर फ़िर से मुतव्वलि द्वारा भू-माफियाओं के साथ सांठगांठ कर जल्द से जल्द मज़ार ख़ुर्शीद सहाब की भूमि कब्रिस्तान को ठिकाने लगाने का प्रयास कर रहा है जिसको रोका जाना अति आवश्यक है।
प्रार्थी ने हाल मे मुख्यमंत्री को दिए शिकायती पत्र में पूर्व मुतव्वली अशरफ खान के द्वारा किए गए अवैध निर्माण एवं फ़र्जी तरीक़े से मज़ार ख़ुर्शीद सहाब कब्रिस्तान को 29 सालों के लिए मात्र 500 रुपए के किराए पर देने का पूर्ण विवरण शिकायती पत्र मे लिखा है बतया है कि उनके पूर्वजो की अनेकों कब्रें मज़ार ख़ुर्शीद सहाब वक्फ नंबर 285 कब्रिस्तान मे हैं बताया कि 15 सालों पहले तक मस्जिद का चबूतरा था और नमाज अदा की जाती थी मग़र मुतव्वली अशरफ खान फ़िर से भू माफियाओं का कब्ज़ा मज़ार ख़ुर्शीद सहाब कब्रिस्तान पर करा रहा है एवं दबंगता पर उतर आया है प्रार्थी को धमकियां दे रहा है तथा दिलवा रहा है।
प्रार्थी नसीर खान ने बताया है कि मुतव्वली अशरफ खान ने भू-माफियाओं को मज़ार ख़ुर्शीद सहाब कब्रिस्तान पर बैठा दिया है जो लगातार कब्रिस्तान से कब्रों को मिस्मार करने की धमकियां दे रहे हैं उन्होंने कहा कि जब तक मामला वक्फ बोर्ड मे विचाराधीन है तो विवादित मज़ार ख़ुर्शीद सहाब कब्रिस्तान पर किसी प्रकार का निर्माण एवं अतिक्रमण तथा ध्वस्तीकर्ण नहीं किया जा सकता है विपक्षी मुतव्वली अशरफ खान की इस मनमानी से के कारण सांप्रदायिक झगड़े का अंदेशा बना हुआ है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad