Type Here to Get Search Results !

कौन हैं SI नैना कैनवाल: हरियाणा पुलिस ने हथियारों समेत पकड़ा, राहुल गांधी संग दिख चुकीं, लाखों हैं फॉलोअर्स

0

कौन हैं SI नैना कैनवाल: हरियाणा पुलिस ने हथियारों समेत पकड़ा, राहुल गांधी संग दिख चुकीं, लाखों हैं  हैं फॉलोअर्स


हरियाणा पुलिस ने रोहतक में राजस्थान पुलिस की महिला सब इंस्पेक्टर (SI) नैना कैनवाल को अवैध हथियार के मामले में पकड़ा है। इसके बाद से ही वह हरियाणा और राजस्थान में सुर्खियों में बनी हैं। ऐसे में आइये जानते हैं कौन हैं नैना कैनवाल और क्या हैं उन पर आरोप? नैना कैनवाल अंतरराष्ट्रीय कुश्ती खिलाड़ी हैं। वह हरियाणा केसरी सम्मान से सम्मानित भी हो चुकी हैं। नैना कैनवाल कुछ दिन पहले ही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में भी शामिल हो चुकी हैं। राहुल गांधी के साथ उनकी एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर मौजूद है। फेसबुक पर पांच लाख से अधिक और इंस्टाग्राम पर ढाई लाख लोग नैना को फॉलो करते हैं। अब हरियाणा पुलिस ने उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। नैना हरियाणा के पानीपत जिले की सुताना गांव की रहने वाली हैं। वहीं रोहतक में सनसिटी हाइट्स में वह किराये के प्लैट में रहती हैं 

दिल्ली पुलिस ने मारा था छापा
गुरुवार यानी दो मार्च को दिल्ली पुलिस ने नैना के फ्लैट में दबिश दी। दरअसल, दिल्ली पुलिस को अपहरण के मामले में वांछित बोहर निवासी सुमित नांदल की तलाश थी। पुलिस को सुमित की लोकेशन नैना के फ्लैट में मिली। इसके बाद टीम ने यहां दबिश दी

यह है आरोप 
सुमित नांदल के खिलाफ अपहरण और उगाही का मामला दर्ज है। पुलिस उसकी तलाश में गुरुवार को रोहतक पहुंची थी। पता चला कि सुमित नांदल लाढ़ोत रोड स्थित सनसिटी हाइट्स के एक फ्लैट में है लेकिन पुलिस की दबिश से कुछ समय पहले ही सुमित नांदल वहां से निकल गया था। दरवाजा खटखटाया तो नैना ने गेट खोला, जिसके दोनों हाथों में पिस्तौल थी। उन्होंने पुलिस को देखकर पिस्तौल खिड़की से नीचे फेंक दी, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद उनके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्जकर गिरफ्तार कर लिया था।
सुमित के खिलाफ 2021 में दर्ज हुआ था केस
पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक दिल्ली के उत्तम नगर निवासी पंकज कुमार ने जुलाई 2021 में मोहन गार्डन थाने में अपहरण कर 20 लाख की फिरौती और तीन लाख की वसूली का केस दर्ज कराया था। वह अपने दोस्त ऋषभ के साथ मोहन गार्डन रोड पर कार में बैठा था। कुछ युवक आए और अपहरण करके रोहतक ले गए। उनमें एक युवक खुद को बोहर निवासी सुमित नांदल बता रहा था। उसे बाबा मस्तनाथ की मूर्ति के नजदीक एक बड़े मकान में ले गए। उसका मुंह पानी में डुबोया। मारपीट करके दिल्ली ले जाकर तीन लाख रुपये वसूले। 17 लाख जल्द न देने पर धमकी दी और उसे सड़क किनारे छोड़ दिया था। तभी से पुलिस आरोपी सुमित की तलाश में जुटी है।

नैना पांच साल से रोहतक में कर रही थीं अभ्यास
एसआई नैना पिछले पांच साल से रोहतक में रहकर कुश्ती का अभ्यास कर रही थीं। इससे पूर्व वह जींद की एक नामी कुश्ती एकेडमी में अभ्यासरत थीं। पिछले कुछ माह से यह पहलवान बोहर के एक पहलवान की एकेडमी से जुड़ी हैं। अखाड़े के पहलवानों की मानें तो नैना कुश्ती की अच्छी खिलाड़ी रही हैं। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन किया और कई पदक जीते। इन उपलब्धियों की वजह से जून 2022 में राजस्थान पुलिस में सब इंपेक्टर की नौकरी नैना को मिली। अखाड़े में व्यवहार भी मिलनसार रहा। वह अभ्यास पर पूरा ध्यान देने वाली और मेहनत करने वाली खिलाड़ी रही हैं। रोहतक के सर छोटू राम स्टेडियम के अखाड़े में करीब पांच साल अभ्यास किया।

डेढ़ साल से नैना के संपर्क में था सुमित
सुमित नांदल करीब डेढ़ साल से नैना के संपर्क में था। इतना ही नहीं वही फ्लैट में दोनों देसी पिस्तौल छोड़कर गया था। उसे यह नहीं पता था वह दिल्ली पुलिस का वांछित है। पानीपत के सुताना निवासी सब इंस्पेक्टर नैना कैनवाल ने बताया कि फ्लैट के दरवाजे पर अचानक पुलिस को देखकर वह घबरा गई। इस कारण उसने पिस्तौल खिड़की से नीचे फेंक दी। अब रोहतक पुलिस ने भी गांव बोहर निवासी सुमित नांदल का आपराधिक रिकॉर्ड खंगालने में जुट गई है


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad