Type Here to Get Search Results !

मज़ार खुर्शीद शहीद सहाब की भूमि की मुतव्वली ने अवैध रूप से की रजिस्ट्री

0

मज़ार खुर्सिद शहीद सहाब की भूमि की मुतव्वली ने अवैध रूप से की रजिस्ट्री


कब्रिस्तान एवं मज़ार खुर्शीद शहीद सहाब की भूमि का मुतव्वली अशरफ खान ने कौनसी शक्ति तथा कौनसे अधिनियम के अंतर्गत 29 साल 11 माह के लिए दूसरे समुदाय को लिख दिया था* 
मुतव्वली अशरफ खान तथा मुतव्वली के साथ सांठगांठ करने वाले भू-माफियाओं के विरुद्ध क्या? 420/467/468/471 आईपीसी के अंतर्गत कारवाई हो पाएगी*
देवबंद। बीते लंबे समय से विवादों के घेरे में रहे मज़ार खुर्शीद शहीद सहाब की भूमि विवादों का केंद्र रही है हाल ही में मुतव्वली अशरफ खान ने वक्फ अधिनियम 43/1995 की धारा 50 और 56 का खुल्लम खुल्ला उल्लंघन करते हुए दूसरे समुदाय के व्यक्तियों को 29 वर्ष 11 माह के लिए भू-माफियाओं के साथ मिल कर रजिस्ट्री कर दी थी । 
बता दें कि मुतव्वली अशरफ खान ने अपने आप से वक़्फ की संपति को षड्यंत्र कर कब्रिस्तान की 750 वगृ गज भूमि को मात्र ₹500 रुपए मासिक किराए पर 29 वर्ष 11 माह हेतु लीज ङीड तहरीर व तकमील कराकर दिनांक 05/09/ 2023 को कार्यालय रजिस्ट्री देवबंद पर रजिस्ट्री करा दिया था। 
जबकि मजार खुर्शीद शहीद साहब कब्रिस्तान निकट रणखंडी रेलवे फाटक देवबंद आबादी क्षेत्र मे स्तिथ है वक्फ नंबर 285 ,खसरा नंबर 318, 319 के मालिक रहमान खान पुत्र गुलाम हुसैन खा ने 14 /08/ 1908 को वक्फनामा मजार ख़ुर्शीद साहब के नाम पंजीकृत दस्तावेज से वक्फनामा निष्पादित कराकर पंजीकृत कराया था। 
उपरोक्त संपत्ति के खसरा नंबरान 318 0.1230, 319/0.5330 स्थित ग्राम नूरपुर अंदर हदूद जेड0 ए0 परगना व तहसील देवबंद जिला सहारनपुर है तथा उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल बोर्ड लखनऊ के अभिलेखो मैं उक्त वक्फ पंजीकृत चला आता है।
सुन्नी वक्फ बोर्ड की भूमि के बंटाधार को रोकने के लिए एवं कठोर कानूनी कार्रवाई करने के लिए नसीर खान ने सहायक सर्वे अयुक्त को शिकायती पत्र देकर कारवाई की मांग की है।
अब ये देखना दिलचस्प होगा कि वक़्फ अधिनियम का उलंघन करने एवं जानबूझकर भू-माफियाओं के साथ षड्यंत्र रचकर छल कपट कर भूमि को अवैध रूप से दूसरे समुदाय के लोगों रजिस्ट्री करने पर कब कारवाई होगी।
पूर्व मे कब्रिस्तान की भूमि पर अवैध तरीके से निर्माण करने की शिकायत 14 सितंबर 2023 को नसीर खान, सफीर खान, जहीर खान आदि ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर की थी जिसकी जांच के लिए संबंधित अधिकारी ने देवबंद पहुंच कर निरीक्षण कर निर्माण रुकवा दिया था जिसके बाद मुतव्वली अशरफ ने भू-माफियाओं से सांठगांठ कर रजिस्ट्री कर दी जिस के लिए सहायक सर्वे अयुक्त वक़्फ बोर्ड से कठोर कारवाई के लिए प्राथना पत्र दिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad