Type Here to Get Search Results !

बंदा घर के झगड़े ने बर्बाद कर दिया परिवार महीला ने दो बच्चो संग नदी में कूद कर दे दी जान

0

 


 घाट पर बीवी बच्चों का शव देख तड़प उठा पति जाने पूरा मामला





बंदा  के कमासिन थाना क्षेत्र में पति से झगड़कर महिला ने दो मासूम बच्चों को लेकर नदी से छलांग लगा दी थी। गोताखोरों की मदद से पुलिस ने तीनों शवों को नदी से बरामद कर लिया। घाट पर तीनों के शव देख पति राजेश फफकता रहा। वो कह रहा था कि दर्द न बांट सकी तो अकेला छोड़कर चली गई।कहते हैं कि पति-पत्नी एक दूसरे के सुख-दुख के भागीदार होते हैं, और यही भागीदारी राजेश की पत्नी मंटू भी निभाना चाहती थी। राजेश काफी दिनों से टीबी की बीमारी से ग्रसित था, इसके बाद भी ईंट भठ्ठे पर जी तोड़ मेहनत गृहस्थी की गाड़ी खींच रहा था।बस यही बात मंटू के दिल को ठेस पहुंचा रही थी। घाट पर रोते हुए राजेश ने बताया कि मंटू उसकी तबीयत को लेकर काफी परेशान रहती थी। कहती थी कि काम छोड़ दो, पहले बीमारी ठीक करो, फिर देखा जाएगा, लेकिन उसकी बातों से बच्चों का पेट कैसे पलता।
इस तरह जिंदगी भर का गम दे जाएगी
लिहाजा वह लगातार काम पर जा रहा था। बुधवार को तो मंटू ने भी काम पर साथ चलने की जिद कर दी। इसका उसने विरोध किया तो इसी बात पर पति-पत्नी का झगड़ा शुरू हो गया। राजेश के मुताबिक उसे क्या मालूम था कि दर्द न बांट पाने से नाराज मंटू उसे इस तरह जिंदगी भर का गम दे जाएगी।महिला ने दो मासूम बच्चों को लेकर नदी से छलांग लगा दी
बता दें कि बांदा जिले के कमासिन थाना क्षेत्र में पति से झगड़कर महिला ने दो मासूम बच्चों को लेकर नदी से छलांग लगा दी । गोताखोरों की मदद से पुलिस ने एक घंटे की मशक्कत के बाद तीनों शवों को नदी से बरामद कर लिया।
कमासिन थाना क्षेत्र के दादौं गांव निवासी राजेश निषाद पत्नी के साथ मंगलवार को फतेहपुर जिले के किशनपुर क्षेत्र के एक गांव स्थित भट्ठे पर ईंट पाथकर घर आया था।
पति-पत्नी का किसी बात पर विवाद हो गया
बुधवार को सुबह नौ बजे वह दवा लेने के लिए कमासिन सीएचसी गया था। वहां से टीबी की दवा लेकर वह दोपहर में घर पहुंचा। घर में पत्नी मंटू देवी (26) से राजेश का किसी बात पर विवाद हो गया। इससे आहत मंटू देवी बेटी पुत्री काजल (5) और बेटे दीपक (3) को साथ लेकर घर से पैदल निकल गई।
एक-एक करके दोनों बच्चों को नदी में फेंका
शाम करीब छह बजे उसने दादौं गांव में किशनपुर घाट पर बने पुल से एक-एक करके दोनों बच्चों को यमुना नदी में फेंक दिया। इसके बाद खुद भी पुल से छलांग लगा दी। इस दौरान घाट पर मौजूद कुछ लोगों ने उसे देख लिया और पुलिस को सूचना दी। सूचना पर दादौं पुलिस चौकी से एसआई नरेंद्र कुमार मौके पर पहुंचे।
तीनों शवों को नदी से निकलवाया
उन्होंने गोताखोरों की मदद से एक घंटे की मशक्कत के बाद तीनों शवों को नदी से निकलवा लिया है। घटना की खबर मिलने पर सीओ बबेरू राजवीर सिंह, कमासिन इंस्पेक्टर ऋषिदेव सिंह आदि मौके पर पहुंच गए हैं। इंस्पेक्टर ऋषि देव ने बताया कि पति से झगड़े के बाद महिला ने आत्मघाती कदम उठाया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad