Type Here to Get Search Results !

विवाहिता की हत्या कर शव को घर के अंदर ही किया दफन, क्षेत्र मे सनसनी, ख़ुशी ख़ुशी एक साल भी नहीं रह सकी विवाहिता |

0

 विवाहिता की हत्या कर शव को घर के अंदर ही किया दफन, क्षेत्र मे सनसनी, ख़ुशी ख़ुशी एक साल भी नहीं रह सकी विवाहिता |


स्थानीय थाना क्षेत्र के आराजी जजमन जोत गांव में गुरुवार की रात हैवानियत और दरिंदगी का ऐसा सच सामने आया जहां एक नव विवाहिता को उसके पति और ससुर ने ही पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया और घर के अंदर ही गड्ढा खोदकर उसे दफना दिया | कानूनी बंदिशों के डर पड़ोसियों ने भी उसकी चीख पुकार सुनकर उसे बचाने का साहस नहीं किया | कारण यह था कि इसके पूर्व में भी एक बार जब विवाहिता का ससुर उसकी पिटाई कर रहा था तो बचाव का प्रयास करने वाले पड़ोसियों पर बहू के साथ छेड़खानी का आरोप लगाते हुए उन्हें थाने तक पहुंचा दिया था |मिली जानकारी के अनुसार अनीता 19 वर्ष पुत्री स्व० बीरेंद्र गौड़ निवासी आराजी देवारा नैनीजोर (रानीपुर, नई बस्ती) की शादी 10 अप्रैल 2023 को महराजगंज थाना क्षेत्र के आराजी जजमनजोत गांव निवासी सूरज पुत्र गुलाब गौड़ के साथ बुढ़ऊ बाबा मन्दिर, शिवपुर में हुई थी |शादी के बाद से ही वह पति के घर पर रह रही थी | दहेज में मोटर साइकिल की मांग को लेकर अक्सर उसके पति व ससुर उसका उत्पीड़न करते थे | इसी क्रम में गुरुवार को हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए उसको पीट-पीट कर मार डाला और जब अनीता की चीज पुकार बंद हो गई तो घर के अंदर ही उसे दफना दिया | शुक्रवार की सुबह आरोपीगण घर में ताला लगाकर जा रहे थे तो आसपास के लोगों ने देखा और उनके साथ अनीता को जाता हुआ न देखकर शक हुआ तो घर के अंदर आवाज लगाई किंतु कोई प्रतिक्रिया न होने पर सक के आधार पर पुलिस को सूचित किया | सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची महराजगंज पुलिस व सीओ बुढ़नपुर ने गांव वालों की उपस्थिति में ताला तुड़वाकर घर के अंदर प्रवेश किया तो एक कोने में खोदी हुई मिट्टी देखकर वहां खुदाई कराया जिसके अंदर से मृतका का शव बरामद हुआ | विधिक कार्यवाही करते हुए  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया | मौके पर पहुंचे मृतका के छोटे भाई हरेंद्र ने बताया कि मेरे माता-पिता इस दुनियां में नहीं हैं | अनीता तीन भाइयों और चार बहनों में सबसे छोटी थी |  मेरे दोनो भाई रोजी रोटी के सिलसिले में बाहर रहते हैं | बहन की ससुराल वाले दहेज में मोटरसाइकिल की मांग कर रहे थे किंतु पैसे का प्रबंध न होने के कारण नहीं दिया जा सका | बाद में चालीस हजार लड़के वालों को दिया गया किंतु इसके बावजूद भी मेरी बहन को प्रताड़ित करते थे | पिछले कुछ महीने से उससे बात भी नहीं कराते थे | घटना के संबंध में थाना प्रभारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि प्रार्थना पत्र के आधार पर दहेज हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर विधिक कार्यवाही की जा रही है |

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad