आजमगढ़ पूर्व प्रधान व सपा नेता को बदमाशो ने मारी गोली /मौत

Up Crime Express
0

प्रधान का ऐसा क्या था गुनाह जो आज जान देके चुकानी पड़ी कीमत

आजमगढ़। मार्टीनगंज ब्लॉक से लौट रहे बरदह थाना क्षेत्र के सोनहरा गांव के पूर्व प्रधान व सपा नेता को बृहस्पतिवार की शाम बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मार दी और फरार हो गए। घटना की जानकारी होते ही परिजन व ग्रामीण मौके पर पहुंचे। इलाज के लिए पीएचसी मार्टीनगंज ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
सूचना पर एएसपी सिटी, सहायक पुलिस अधीक्षक शुभम अग्रवाल भी मौके पर पहुंच गए। सोनहरा गांव के पूर्व प्रधान रणविजय यादव उर्फ रन्नू यादव (60) बृहस्पतिवार को किसी काम से मार्टीनगंज ब्लॉक पर गए थे। शाम लगभग साढ़े पांच बजे वह अपनी बुलेट से घर लौट रहे थे। अभी वे गांव के निकट बेसो नदी पुल के पास पहुंचे ही थे कि बुलेट रोक कर लघुशंका करने लगे।
इसी दौरान बाइक से पहुंचे दो बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ छह राउंड फायर झोंक दिया और मार्टीनगंज की तरफ भाग गए। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग जुट गए। सूचना पर परिजन व ग्रामीण भी पहुंचे। पूर्व प्रधान को आनन-फानन में पीएचसी मार्टीनगंज ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया।
मौत की पुष्टि होते ही परिजन व ग्रामीण आक्रोशित हो उठे और पीएचसी पर ही हंगामा शुरू कर दिया। पूर्व प्रधान की कनपटी, सीना, पीठ व पेट में कुल छह गोली लगी है। घटना की जानकारी होते ही बरदह थाना पुलिस के साथ ही आसपास के थानों की पुलिस भी पहुंच गई। एएसपी सिटी शैलेंद्र लाल, सहायक पुलिस अधीक्षक शुभम अग्रवाल भी मौके पर पहुंच गए। आक्रोशित परिजनों व ग्रामीणों को समझा- बुझाकर शांत कराने में पुलिस जुटी थी।
पूर्व प्रधान रणविजय यादव उर्फ रन्नू का मुंबई में बड़ा कारोबार है। एक बार वे गांव लौटे और प्रधानी का चुनाव लड़ गए। इसके बाद से वे गांव में ही रहने लगे और गंवई राजनीति करने लगे। बीती प्रधानी के चुनाव में इनका विपक्षी से विवाद हो गया था। जिसमें जमकर मारपीट हुई थी और उस मामले में ये गिरफ्तार भी किए गए थे। विगत छह माह पूर्व ही वे जेल से छूट कर आए थे।

ब्यूरो रिपोर्ट आजमगढ़ 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)
To Top