Type Here to Get Search Results !

गांधी परिवार के अधिवक्ता देर रात क्यों पहुंचे रायबरेली,

0

 राहुल और प्रियंका के मैदान में उतरने की संभावना बढ़ी


कांग्रेस के एक नेता ने नाम न छापने के अनुरोध के साथ बताया कि अगर गांधी परिवार के सदस्य इन दोनों सीटों से चुनाव नहीं लड़ते तो केसी कौशिक को यहां नामांकन के कागज तैयार करने के लिए नहीं भेजा जाता। 
लंबे समय से गांधी परिवार के नामांकन का काम देख रहे सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता केसी कौशिक बुधवार देर शाम रायबरेली पहुंच गए। इससे अमेठी और रायबरेली से राहुल गांधी व प्रियंका गांधी के उतरने की संभावना बढ़ गई हैं। बताते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के दखल के बाद इन दोनों प्रतिष्ठित सीटों पर परिवार के लोगों के लड़ने पर सहमति बन गई है।गांधी परिवार के पारिवारिक सूत्रों के अनुसार रायबरेली और अमेठी को लेकर प्रियंका और राहुल के बीच ही सहमति नहीं बन पा रही थी। इस प्रकरण ने पारिवारिक विवाद का रूप ले लिया। इसके चलते कांग्रेस नामांकन की अंतिम तिथि के दो दिन पहले तक प्रत्याशियों की घोषणा नहीं कर सकी। पारिवारिक सूत्रों की मानें तो मंगलवार शाम इस मुद्दे पर सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे की बात हुई। खड़गे ने कहा कि इससे देश में ठीक संदेश नहीं जा रहा है। भाजपा को भी दुष्प्रचार करने का मौका मिलेगा। इस पर मंगलवार को ही सोनिया गांधी ने राहुल और प्रियंका को बैठाकर बात की।इसी बातचीत का नतीजा है कि सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता केसी कौशिक बुधवार देर शाम नामांकन के पर्चे तैयार करवाने पहुंच गए। कौशिक, सोनिया गांधी के भी नामांकन का काम देखते रहे हैं। कांग्रेस के एक नेता ने नाम न छापने के अनुरोध के साथ बताया कि अगर गांधी परिवार के सदस्य इन दोनों सीटों से चुनाव नहीं लड़ते तो कौशिक को यहां नामांकन के कागज तैयार करने के लिए नहीं भेजा जाता। उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि इन दोनों सीटों पर प्रत्याशी की घोषणा न होने से मतदाताओं के बीच अच्छा संदेश नहीं जा रहा है।
स्थानीय कार्यकर्ताओं को राहुल के ही लड़ने का भरोसा
अमेठी की स्थानीय कमेटी ने राहुल गांधी के नामांकन को लेकर हर स्तर पर तैयारी पूरी कर ली है। स्थानीय नेताओं को भरोसा है कि नामांकन के अंतिम दिन वह पहुंच सकते हैं। इसी बीच बुधवार को कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के रायबरेली में सांसद प्रतिनिधि व पार्टी के राष्ट्रीय सचिव किशोरी लाल शर्मा भी अमेठी पहुंच गए। उनके साथ पूरी टीम मौजूद रही। बैठकों का दौर शुरू हुआ। बूथ स्तर तक बात हुई।
सूत्रों का कहना है कि शर्मा के समर्थकों ने उनके चुनाव लड़ने की बात कही लेकिन शर्मा ने खुद चुनाव लड़ने की बात नहीं की। इतना जरूर रहा कि उन्होंने हर कार्यकर्ता को चुनाव के लिए हर स्तर पर तैयार रहने का आह्वान किया। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि राहुल के मैदान में न उतरने की स्थिति में किशोरी लाल शर्मा उम्मीदवार हो सकते हैं। सूत्रों का यह भी कहना है कि लंबे समय तक कांग्रेस की राजनीति करने वाले भाजपा के एक वरिष्ठ नेता भी अचानक कांग्रेस में जाकर अमेठी से उम्मीदवार हो सकते हैं। क्योंकि उनकी टीम भी अपने स्तर पर लोकसभा क्षेत्र में तैयारी कर रही है।
अजय राय बोले-आज खत्म हो जाएगा सस्पेंस
वहीं, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय राय का कहना है कि बृहस्पतिवार दोपहर बाद तक सस्पेंस खत्म हो जाएगा। अभी दोनों सीट पर उम्मीदवार के नाम की अधिकृत सूचना नहीं मिली है। जो भी उम्मीदवार होगा, पार्टी का हर कार्यकर्ता उसके साथ रहेगा।



खबरों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें 7268946616


Tags

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Top Post Ad

Below Post Ad